Keyboard in hindi | कीबोर्ड की जानकारी हिंदी में

  • Post last modified:January 3, 2021
  • Reading time:4 mins read

Keyboard in hindi: कीबोर्ड मुख्य रूप से कंप्यूटर का एक इनपुट उपकरण है जिसमे अनेक Keys होती है। ” Keyboard ” शब्द का हिंदी अर्थ ” कुंजीपटल “ होता है। कीबोर्ड की Keys टाइपराइटर की Keys जैसी ही होती है।

Keyboard in hindi

कीबोर्ड क्या है?

Keyboard कंप्यूटर का ही एक पार्ट होता है, जिसमे अनेक Keys होती है। कीबोर्ड की मदद से कंप्यूटर को इनपुट दिया जाता है। कीबोर्ड के मुख्य भाग पर Alphabets और Numbers होते है। 

कीबोर्ड का अविष्कार 

कई आविष्कारों के साथ Typewriter, Telegraph और Keypunch सहित कई अलग-अलग अविष्कार हुए जिनकी आज हमारे द्वारा उपयोग किये जाने वाले आधुनिक कीबोर्ड तक ले जाने में बहुत बड़ी भूमिका रही है। पहला लेखन मशीन 1700 के दशक की शुरुआत में तैयार किया गया था और सबसे पहले 1714 में लंदन इंग्लैंड में हेनरी मिल द्वारा पेंटेंट कराया गया था। 

1700 के दशक की अंत और 1800 के शुरुआती दिनों में दुनिया भर में कई टाइपिंग और लेखन मशीन बनाये गए थे। हालांकि , पहला व्यवहारिक टाइपराइटर और “Type- Writer ” शब्द सबसे पहले 1868 में क्रिस्टोफर शॉल्स (CHristopher Sholes) द्वारा विकसित और पेटेंट किया गया था। 1868 में क्रिस्टोफर शॉल्स (CHristopher Sholes) द्वारा विकसित किया गया Typewriter को दुनिया का पहला टाइपराइटर माना गया है। 

इसके आलावा, Type-Writer ने QWERTY लेआउट पेश किया, जिनका उपयोग आज भी लगभग सभी अमेरिकी कीबोर्ड पर किया जाता है। निचे टाइपराइटर की एक तस्वीर है जो क्रिस्टोफर शॉल्स, कार्लोस ग्लूड और सैमुअल डब्ल्यू सोले द्वारा बनाई गई थी। 

1878 में रेमिंगटन नंबर 2 टाइपराइटर पर Shift कुंजी रखने वाला पहला कीबोर्ड था, जिसमे कीबोर्ड के बाई और एक Shift Key थी। 

Keyboard history in hindi

})(jQuery);

कीबोर्ड के साथ पहला कंप्यूटर 

1964 में MULTICS की शुरुआत के कई साल बाद और वीडियो डिस्प्ले टर्मिनल (VDT) ने उपयोगकर्ताओं को यह देखने की अनुमति दी कि वे स्क्रीन पर क्या टाइप कर रहे है। 

1969 में, कंप्यूटर टर्मिनल कॉर्पोरेशन ने Datapoint 3300 की शिपिंग शुरू की जो टेलीप्रिंटर की जगह लेने वाला पहला कंप्यूटर टर्मिनल था। साथ ही DataPoint 3300 के रूप में बेचा जा रहा था, इस टर्मिनल के अन्य संस्करणों को DEC VT06 और HP 2600A के रूप में बेचा गया था। DataPoint 3300 ने स्क्रीन डिस्प्ले टाइप किये गए टेक्स्ट का उपयोग किया और एरो कुंजिओ का उपयोग करके कर्सर को स्थानांतरित करने में सक्षम था। यह स्क्रीन के अंत तक सभी टेक्स्ट को भी साफ कर सकता था। 

1970 के दशक की शुरुआत में, कीबोर्ड आज के समान उपयोग करने लगे, जो कि भरी यांत्रिक कीबोर्ड थे और IBM की कंपनीयो से विधुत टाइपराइटर परिवर्तित कर दिए गए थे। हालाँकि, पहले पर्सनल कंप्यूटर जैसे अल्टेयर अभी भी कंप्यूटर के सामने इनपुट डेटा पर स्विच बंद कर देते थे। 

1970 के दशक के अंत में, Apple Radio Shack और Commodore ने आपने कंप्यूटर के सभी संस्करणों को कीबोर्ड के साथ जारी किया, जो कंप्यूटर के साथ शामिल थे। अगस्त 1981 में, IBM ने IBM PC और एक मॉडल जारी किया जिसे Model F के नाम से जाना गया। 

1986 में, IBM ने Model M कीबोर्ड जारी किया, जो कीबोर्ड के शीर्ष पर Function Keys के साथ था, जो आज के आधुनिक कीबोर्ड की तरह दिखता था।  Model M आज भी एक उच्च कीबोर्ड है, क्योंकि इसमें 101-Keys मानक US लेआउट पेश किया गया था, जो आज पूर्ण आकार के कीबोर्ड के लिए उपयोग किया जाता है। यह विंडोस कुंजी और मेनू कुंजी के साथ विंडोस कीबोर्ड के लिए 104-कुंजी लेआउट के लिए भी अनुकूलित किया  है। 

IBM Model M keyboard
IBM Model M keyboard

Model M कीबोर्ड की रिहाई के बाद से, आज हम जिस कीबोर्ड का उपयोग करते है उसमे कई बदलाव हुए है। एक Membrane निर्माता कंप्यूटर कीबोर्ड को बहुत आसान और सस्ता बनाती है। Membrane कीबोर्ड पहले यांत्रिक कीबोर्ड की तुलना में कीबोर्ड को हल्का और पतला बनाता है। 

कीबोर्ड हिंदी में – Keyboard in hindi

कंप्यूटर कीबोर्ड पर हिंदी में टाइपिंग करना थोड़ा मुश्किल काम है क्योंकि कीबोर्ड पर सभी English Characters होते है। कंप्यूटर कीबोर्ड पर हिंदी में टाइपिंग करने के लिए हमे हिंदी अक्षरों को याद रखना पड़ता है। हिंदी में टाइपिंग हम कुछ दिनों के अभ्यास से बहुत आसानीसे सीख सकते है। 
निचे एक तस्बीर दी गई है, जिस में हिंदी अक्षरों छपे हुए है। आप इस तस्वीर को देखकर हिंदी अक्षरों को याद रख सकते है। 
Keyboard in hindi
हिंदी टाइपिंग कीबोर्ड 

कीबोर्ड लेआउट 

कीबोर्ड पर कुंजिओ की विशेष जमावट को कीबोर्ड लेआउट कहते है। कीबोर्ड लेआउट कीबोर्ड के आकार तथा प्रकार निर्धारित करता है। 
आज कंप्यूटर कीबोर्ड के विभिन्न लेआउट उपलब्ध है। दुनिया अलग-अलग भाषा और लिपि के अनुसार कीबोर्ड लेआउट विकसित किये गए है। 
इन सभी कीबोर्ड लेआउट को दो वर्गों में अलग कर सकते है। 
  1. QWERTY Keyboard Layout
  2. Non-QWERTY Keyboard Layout

1. QWERTY Keyboard Layout

QWERTY Keyboard Layout प्रचलित और ज्यादा उपयोग होने वाला कीबोर्ड लेआउट है। दुनिया में ज्यादातर इस प्रकार के कीबोर्ड लेआउट को अपनाया गया है। आधुनिक कंप्यूटर  कीबोर्ड में इसी लेआउट को इस्तेमाल किया जाता है। 
 QWERTY Layout पर आधारित कुछ अन्य Keyboard Layouts:
  • QWERTY
  • QWERTZ
  • AZERTY
  • QZERTY

2. Non-QWERTY Layout

जिन कीबोर्ड में  QWERTY Layout को कुंजियों की जमावट के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता है, उन्हें Non-QWERTY Keyboard कहते है। 
निचे कुछ Non-QWERTY Keyboard Layouts दिए गए है। 
  • Dvorak
  • Colemak
  • Workman

कीबोर्ड के प्रकार 

कंप्यूटर कीबोर्ड के मुख्य रूप  8 प्रकार है। 
  1. Multimedia Keyboard
  2. Mechanical Keyboard
  3. Wireless Keyboard
  4. Virtual Keyboard
  5. USB Keyboard
  6. Ergonomic Keyboard
  7. QWERTY Keyboard
  8. Gaming Keyboard

1. Multimedia Keyboard

Multimedia Keyboard
Multimedia Keyboard
इस प्रकार का कीबोर्ड Music नियंत्रण करने के लिए बनाया गया है। Multimedia Keyboard को खास कर पसंद करने वाले इस्तेमाल करते है।
इस कीबोर्ड में कुछ महत्वपूर्ण कुंजीओ होती है, जैसे Play, Pause, Stop, Volume Up, Volume Down, Next, Back, Mute. Multimedia Keyboard का ज्यादा इस्तेमाल शादी में Music बजाने वाली Party और Pub (Disko) में Music Artist करते है। 

2. Mechanical Keyboard

Mechanical Keyboard

Mechanical Keyboard

इस कीबोर्ड की Keys बहुत ही Soft होती है। यह कीबोर्ड मुख्यत: गेम खेलने  लोगो  पसंद आता है। Mechanical Keyboard में Keys के निचे स्प्रिंग लगी होती है। इन्हे सिर्फ थोड़ा सा प्रेस करना पड़ता है। इस कीबोर्ड का Disadvantage यह है की यह आवाज बहुत करता है।
  

3.Wireless keyboard

Wireless keyboard
Wireless keyboard
इस प्रकार के कीबोर्ड को कंप्यूटर से कनेक्ट करने के लिए आकाशवाणी आवृति(radio frequency), ब्लूटूथ और अवरक्त(Infrared) जैसी तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। 
Wireless keyboard का फायदा यह है की हम कंप्यूटर से दूर बैठकर भी कंप्यूटर पर टाइप  या कोई भी काम कर सकते है। 
इस कीबोर्ड को Mobile, Tablet, Computer और Laptop के साथ भी कनेक्ट कर सकते है। Wireless keyboard आकर में थोड़े छोटे और वजन में हलके होते है। कुछ कीबोर्ड  Mouse pad भी लगा हुआ होता है। 

4. Virtual Keyboard

Virtual Keyboard

Virtual Keyboard

Virtual Keyboard भौतिक रूप से Exist नहीं करता है। यह हार्डवेयर नहीं एक सॉफ्टवेयर  होता है। जब हम मोबाइल में टाइप करना चाहते है तो एक कीबोर्ड मोबाइल की स्क्रीन पर ओपन होता है, उसे Virtual Keyboard कहते है। 
कुछ वेबसाइट पर लॉगिन करते समय भी हमे Virtual Keyboard दिखाई देता है। आप चाहे तो उसका उपयोग कर सकते है अथवा Cancel भी कर सकते है। 

5. USB Keyboard

USB Keyboard

USB Keyboard

USB का मतलब होता है Universal Serial Bus. आसान भासा में बात करे तो USB एक केबल होती है जो कंप्यूटर और कीबोर्ड को कनेक्ट करने के काम आती है। 
USB के अविष्कार ने कंप्यूटर इतिहास में एक नई क्रांति को जन्म दी है। आज मार्किट में USB Keyboard, USB Mouse, USB Speaker, USB Monitor, USB Headphone उपलब्ध है। 

6. Ergonomic Keyboard

Ergonomic Keyboard

Ergonomic Keyboard

Ergonomic का मतलब  होता है कर्मचारी और उनके काम करने के माहौल के बारे में शोध करना। Ergonomic Keyboard इंग्लिश के अक्षर ” V ” के आकर के होते है देखने  यह बहुत अजीब लगता है। 
यह Keyboard बहुत महंगा आता है। Ergonomic Keyboard बहुत सारे आकर में उपलब्ध है। 

7. QWERTY Keyboard

QWERTY Keyboard

QWERTY Keyboard

QWERTY Keyboard सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला कीबोर्ड है। ज्यादातर लोग इस प्रकार  कीबोर्ड का ही इस्तेमाल करते है। QWERTY Keyboard  का नाम  QWERTY Keyboard ऊपर की Row में Q, W , E, R, T  और Y कुंजिओ पर से रखा गया है। 
किसी भी Keyboard में Alphabets का क्रम ABCD के हिसाब से नहीं होता।
 

8.Gaming Keyboard

Gaming Keyboard

Gaming Keyboard

इस प्रकार का कीबोर्ड Gaming के शौक़ीन लोगो की पहली पसंद है। उन्ही लोगों को ध्यान में रखकर बनाया गया है। गेम को आसानी से खेलने  कीबोर्ड में कुछ विशेष Keys भी जी जाती है।    

कीबोर्ड की जानकारी 

‘QWERTY’ Layout अब तक का सबसे प्रचलित और दुनियाभर में अपनाया गया पैटर्न है। और इस लेख में भी इसी प्रकार के Keyboard को उपयोग करना बता रहे है। 
आइए, जानते है एक Keyboard में कुल कितने बटन (कुंजी) होते है? सभी बटनों का नाम, प्रकार तथा इनका क्या उपयोग है?
एक सामान्य Keyboard में कुल 104 Keys होती है. तथा इनकी संख्या Keyboard Manufactures और Operating System पर भी निर्भर करती है। इसलिए मोटे तौर पर हम कह सकते है कि एक QWERTY Keyboard में लगभग 100 Keys (±) होती है। 
कीबोर्ड में मौजूद प्रत्येक कुंजी का अपना विशेष कार्य होता है. और इसी कार्य के आधार पर इनको निम्न छह श्रेणीयों में बाँटा गया है। जिनका वर्णन इस प्रकार है। 
  1. Function Keys
  2. Typing Keys
  3. Control Keys
  4. Navigation Keys
  5. Indicator Lights
  6. Numeric Keypad

1. Function Keys

Function Keys Keyboard में सबसे ऊपर होती है। इन्हें Keyboard में F1 से F12 तक लिखा जाता है। Function Keys का उपयोग किसी विशेष कार्य को करने के लिए किया जाता है। इनका हर प्रोग्राम में अलग कार्य होता है। 

2. Typing Keys

सबसे अधिक उपयोग इन्ही keys का होता है. Typing keys में दोनो तरह की keys (alphabet और numbers) शामिल होती है, इन्हे सामुहिक रूप में Alphanumeric keys कहा जाता है। Typing keys में सभी तरह के symbols तथा punctuation marks भी शामिल होते है। 

जब आप कम्प्यूटर टाइपिंग सीखते है तो भी इन्ही कुजियों का प्रशिक्षण ही करवाया जाता है। इसलिए, इन कुंजियों की जानकारी अच्छी तरह कर लेनी चाहिए।

टाइपिंग कुंजियों के बारे में हमने और अधिक जानकारी नीचे दी हुई है। इसलिए, इसे जरूर देंखे। 

3. Control Keys

इन keys को अकेले या अन्य keys के साथ कोई निश्चित कार्य करने में इस्तेमाल किया जाता है। एक सामान्य Keyboard में अधिकतर Ctrl key, Alt key, Window key, Esc key का उपयोग Control keys के रूप में किया जाता है। इनके अलावा Menu key, Scroll key, Pause Break key, PrtScr key आदि keys भी control keys में शामिल होती है। 

4. Navigation Keys

Navigation keys में Arrow keys, Home, End, Insert, Page Up, Delete, Page Down आदि keys होती है। इनका use किसी document, webpage आदि में इधर-उधर जाने में होता है।

5. Indicator Lights

Keyboard में तीन तरह की Indicator light (संकेतक) होती है। Num Lock, Scroll Lock और Caps Lock.

जब Keyboard में पहली light जली होती है तो इसका अर्थ है कि Numeric Keypad चालु है, और यदि ये बंद हो तो इसका अर्थ है कि Numeric Keypad बंद है। 

दूसरी, light हमें letters के Uppercase और Lowercase के बारे में संकेत करती है। जब, ये बंद होती है तो letter lowercase में होते है, और जब ये चालु होती है तो letter uppercase में होते है।

तीसरी, जिसे Scroll Lock के नाम से जाना जाता है। यह हमें scrolling के बारे में संकेत करती है।

6. Numeric Keypad

इन्हे हम Calculator keys भी कह सकते है, क्योंकि एक Numeric keypad में लगभग (कुछ अतिरिक्त) एक calculator के समान ही keys होती है। इनका इस्तेमाल numbers लिखने में किया जाता है।

 

टाइपिंग कुंजि और इसका उपयोग 

1. Tab Key

Tab का use एक साथ कई अक्षरों का space देने के लिए किया जाता है। इसके अलावा भी इसके कई उपयोग है। Tab का use कुछ Keyboard Shortcuts में भी किया जाता है। टैब बटन कम्प्यूटर में केवले एक ही होता है। जो बाएं तरफ स्थित होता है।

2. Caps Lock Key

इस बटन का उपयोग सभी letters को uppercase (बड़ा) में लिखने के लिए किया जाता है। जब, Caps Lock ऑन रहता है तो सभी letters uppercase में लिखे जाएगें और ऑफ रहने पर lowercase में लिखे जाते है। 
  • Uppercase Letters – A, B, C, D…
  • Lowercase Letters – a, b, c, d…

3. Shift Keys

Shift Keys का उपयोग letters को uppercase में लिखने के लिए किया जाता है। इसके अलावा किसी बटन के ऊपर वाले हिस्से को type करने के लिए भी Shift Keys का इस्तेमाल किया जाता है।

शिफ्ट बटन कम्प्यूटर में दो होते हैं। एक बायां शिफ्ट बटन और दूसरा दायां शिफ्ट बटन। जब, बड़ा अक्षर बाएं हाथ से टाइप करना है तब दायां शिफ्ट बटन दबाते है और दाएं हाथ से बड़ा अक्षर टाइप करने के लिए बायां शिफ्ट दबाते हैं।

4. Spacebar

Spacebar Keyboard में सबसे बड़ी key होती है। इसका उपयोग Cursor को एक space आगे खिसकाने के लिए किया जाता है। 

5. Enter Key

Enter Key एक महत्वपूर्ण key है। इसका use अगली line शुरू करने के लिए किया जाता है। जब Enter को दबाया जाता है तो Cursor अगली line के शुरूआत में चला जाता है। Enter Key ‘OK’ button का कार्य भी करती है। 

6. Backspace

Backspace का use Cursor के आगे के तथा select किए हुए text को delete करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही अलग-अलग सॉफ्टवेयर में इसका कार्य बदल जाता है।

नियंत्रण कुंजी और इसका उपयोग

1. Esc Key

Esc Key का use वर्तमान में चालु किसी task को cancel करने के लिए किया जाता है। Esc Key पूरा नाम Escape Key है। 

2. Ctrl Key

Ctrl Key का पूरा नाम Control Key है। इसका use Keyboard Shortcuts में किया जाता है। 

3. Alt Key

Alt Key का पूरा नाम Alter Key है, इसका use भी Keyboard Shortcuts में किया जाता है। 

4. Windows Logo Key

इस Key का use Start Menu  को Open करने के लिए किया जाता है।

5. Menu Key

Menu Key माउस के Right Click के समान ही कार्य करती है। यह किसी चुने हुए प्रोग्राम से संबंधित विकल्पों को open करती है। 

6. PrtScr Key

कम्प्युटर स्क्रीन की Image लेने के लिए इस Key का use किया जाता है। इस बटन का प्रैक्टिकल जानने के लिए आप हमारे इस ट्युटोरियल को देखिए। 

नेविगेशन कुंजी और इसका उपयोग

1. Arrow Keys

Arrow Keys चार होती है- Up Arrow, Down Arrow, Left Arrow तथा Right Arrow. इनका use cursor और Webpage को Arrows कि दिशा में सरकाने के लिए किया जाता है। 

2. Home Key

Home Key का use cursor को किसी दस्तावेज के शुरूआत मे लाने के लिए किया जाता है।  इसकी सहायता से एक Webpage और Document के एक दम शुरूआत में आ सकते है। 

3. End Key

End Key का use cursor को किसी दस्तावेज के आखिर मे लाने के लिए किया जाता है। इसकी सहायता से एक Webpage और Document के एक दम नीचे जा सकते है। 

4. Insert Key

Insert Key का use Insert mode को On तथा Off करने के लिए किया जाता है। 

5. Delete Key

Delete Key का use Cursor के बाद के text, select किए हुए text तथा files एवं folder को delete करने के लिए किया जाता है। 

6. Page Up Key

Page Up Key का use Cursor एवं किसी page को कुछ ऊपर सरकाने के लिए किया जाता है। 

7. Page Down Key

Page Down Key का use Cursor एवं किसी page को कुछ नीचे सरकाने के लिए किया जाता है।

Numeric Keypad का उपयोग

Numeric Keypad Keyboard के दांये तरफ होता है। इसमें 0 से 9 तक संख्याए होती है। साथ ही गणीतिय चिन्ह- addition, subtraction, division, multiplication तथा decimal चिन्ह भी होते है। 
Numeric Keypad का use संख्याए लिखने के लिए किया जाता है।  ये संख्याएं Keyboard में दूसरी जगह भी होती है, लेकिन Numeric Keypad से इन्हे जल्दी से लिखा जा सकता है। इसके अलावा Numeric Keypad का use Navigation Keys की तरह भी कर सकते है। Numeric Keypad को इस्तेमाल करने के लिए Num Lock को On रहना चाहिए। 

*****FAQ***** 

सवाल – कम्प्यूटर कीबोर्ड क्या है?

जवाब – कम्प्यूटर कीबोर्ड एक प्रमुख इनपुट डिवाइस होता है। जिसका उपयोग कम्प्यूटर को निर्देश देने तथा टाइपिंग करने के लिए किया जाता है। कीबोर्ड पर इसके ऊपर बटन (कुंजी) उकेरे रहते है जिन्हे दबाने पर अक्षर, चिन्ह तथा विशेष कमांड्स निष्पादित होती है।

सवाल – एक कम्प्यूटर कीबोर्ड में कुल कितने बटन होते है?

जवाब – एक मानक कम्प्यूटर कीबोर्ड में कुल 104 बटन (कुंजीयां) होती है। लेकिन, यह संख्या कीबोर्ड निर्माता, कीबोर्ड प्रकार, कीबोर्ड डिवाइस के आधार पर कम या ज्यादा हो सकती है।  निष्कर्ष के तौर पर हम कह सकते है कि यह संख्या (±) 100 बटन के आसपास होती है।

सवाल – कीबोर्ड कितने प्रकार के होते हैं?

जवाब – मोटेतौर पर कम्प्यूटर कीबोर्ड दो प्रकार का होते है। एक QWERTY Keyboard और दूसरा Non-QWERTY Keyboard. इनके बारे में ज्यादा जानकारी हम पहले ही ऊपर बता चुके है।

सवाल – कीबोर्ड का आविष्कार किसने किया अथवा बनाया?

जवाब – एक अमेरिकी न्यूजपेपर पब्लिशर माननीय Christopher Latham Sholes ने QWERTY Keyboard का आविष्कार किया था। दुनिया का पहला टाइपराइटर बनाने में भी इनकी मुख्य भूमिका थी। 

निष्कर्ष 

मुझे उम्मीद है कि ” Keyboard in hindi | कीबोर्ड की जानकारी हिंदी में “ पोस्ट पढ़ के पढ़के कंप्यूटर कीबोर्ड की अच्छी जानकारी मिली होगी। हमारे लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न है तो निचे कमेंट में बताएं और हमे कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप दे सकते हैं।  
Computer, Internet, Network Marketing, MLM Business, Affiiate Marketing, Technology, Make Money, Blogging और Programming से Realated जानकारी के लिए आप हमारे ब्लॉग के साथ जुड़ सकते हैं और ऐसी जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर विजिट करें। आप हमे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी अनुसरण कर सकते हैं।

This Post Has One Comment

  1. Walter

    Thanks for one’s marvelous posting! I seriously enjoyed reading
    it, you might be a great author.I will be sure to bookmark your blog and will eventually
    come back in the foreseeable future. I want to encourage continue your great writing,
    have a nice morning!

Leave a Reply