Apple electric car

  • Post last modified:December 24, 2020
  • Reading time:1 mins read

Apple electric car, apple electric car project: नमस्कार दोस्तों आज की यह पोस्ट खास होने वाली है, क्योकि दुनियाभर में अपने बेहतरीन गैजेट्स और इनोवेशन के लिए जानी जाने वाली दिग्गज टेक कंपनी Apple अब ऑटो सेक्टर में भी एक नई क्रांति लाने के लिए हाथ आज़माने की तैयारी कर रहा है। हाल ही में सामने आई न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार Apple 2024 तक अपनी कार के साथ ऑटो सेक्टर में धमाकेदार एंट्री की तैयारी में जुटा है।

Apple electric car

इस आगामी Apple car में कंपनी खुद के द्वारा तैयार की गई नेक्स्ट-लेवल बैटरी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करेगी। बता दें कि, साल 2014 में एप्पल अपने प्रोजेक्ट टाइटन (Project Titan) को लेकर काफी चर्चा में भी रहा था। एप्पल की कार को लेकर 2014 में ही पहली बार खबर आई थी, लेकिन बाद में Apple ने अपनी टेक्नॉलजी और सॉफ्टवेयर के डिवेलपमेंट तक खुद को फोकस किया और हर साल एक से बढ़कर एक धांसू प्रोडक्ट लॉन्च किए।

Apple Self Driving Car

Apple Self Driving Car

अब Apple अपनी पहली Electric car को लॉन्च करने की दिशा में काफी तेजी से काम कर रही है और साल 2024 Apple की पहली Electric car दुनिया के सामने आ जाएगी। Apple ने सेल्फ-ड्राइविंग कार के निर्माण की जिम्मेदारी Tesla के पूर्व कर्मचारी डग फील्ड को सौंपी है। 2018 में वह कंपनी के इस प्रोजेक्ट के साथ जुड़े थे तब से वह और उनकी टीम कार को लेकर काम कर रही है।

नई बैटरी टेक्नोलॉजी से क्या होगा असर?  

Apple electric car

रॉयटर्स की खबर के मुताबिक, ये दिग्गज टेक कंपनी एक ऐसी बैटरी के निर्माण में जुटी है जो इलेक्ट्रिक वाहनों में बैटरी की लागत को कम कर देगी। दरअसल (EV) Electric vehicle में बैटरी की लागत ही सबसे अधिक मानी जाती है, लेकिन एप्पल की नई तकनीक इस लागत को कम करने के साथ-साथ वाहन की रेंज को भी बढ़ाएगी।

रिपोर्ट में बैटरी टेक्नोलॉजी को लेकर बताया गया है कि यह एक मोनो-सेल डिजाइन होगा और बैटरी में बल्क में इंडीविजुअल सेल्स मौजूद होंगे, इतना ही नहीं, बैटरी मैटेरियल को होल्ड करने वाले पाउच और मॉड्यूल को खत्म कर बैटरी पैक में स्पेस बनाएगा। यह डिजाइन ज्यादा एक्टिव मैटेरियल को बैटरी के अंदर पैक करने में सक्षम बनाता है जिससे कार को लंबी रेंज मिलेगी।

क्या हैं liDAR सेंसर और कैसे आएंगे काम?

Apple की फ्यूचर Electric car में liDAR टेक्नोलॉजी का भी इस्तेमाल होगा जो कार को 3 डॉयमेंशनल व्यू देगा। कार में कई liDAR सेंसर का इस्तेमाल होगा जो अलग-अलग दूरी को मापने में सक्षम होंगे, यानी कोई भी ऑब्जेक्ट कितनी दूरी पर मौजूद है इस बात की पहचान करने में मदद करेंगे। याद दिला दें कि इन्हीं liDAR सेंसर का इस्तेमाल एप्पल ने अपने आईपैड प्रो 2020 मॉडल और आईफोन 12 प्रो मॉडल्स में भी किया है।

Tesla से मुकाबला

न्यूज एजेंसी रॉयटर की रिपोर्ट की मानें तो Apple Self Driving Car बनाने की योजना पर काम कर रही है, जो शायद फ्यूचर मोबिलिटी के लिए उदाहरण बने। Apple की अपकमिंग Electric car की खबर से अमेरिका की ही कंपनी Tesla के माथे पर बल पड़ना स्वाभाविक है, क्योंकि दोनों ही कंपनी अपने प्रीमियम प्रोडक्ट के लिए जानी जाती है। आने वाले समय में पता चलेगा कि ऐपल की Electric car look, features, power और battery के मामले में क्या कुछ नया लेकर आती है और अपने प्रतिद्वंदी को कितनी टक्कर देती है।

अब Apple इलेक्ट्रिक कार को लेकर सीरियस

आपको बता दूं कि Apple की कार के बारे में सबसे पहले साल 2014 में ही खबर आई थी, लेकिन बाद में Apple ने अपनी टेक्नॉलजी और सॉफ्टवेयर के डिवेलपमेंट तक खुद को फोकस किया और हर साल एक से बढ़कर एक धांसू प्रोडक्ट लॉन्च किए। लेकिन हाल के महीनों में खबर आई है कि Apple अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार को लॉन्च करने की दिशा में काफी तेजी से काम कर रही है और दुनिया साल 2024 अमेरिकी कंपनी ऐपल की इलेक्ट्रिक कार से रूबरू हो जाएगी। ऐपल कई कंपनियों से बात कर रही है, जो Electric car के डिजाइन के साथ ही इसकी अडवांस टेक्नॉलजी को डिवेलप करने की दिशा में काम कर सकती है।

मुझे उम्मीद  है की यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। ऐसे ही जानकारी के लिए इस ब्लॉग पर विसिट करते रहिए और screen पर दिख रहे नोटिफिकेशन बैल आइकॉन को Allow कर दीजिये ताकि लेटेस्ट जानकारी आपको मिले। 

Leave a Reply